रेडक्लिफ रेखा | Red Cliff Rekha

रेडक्लिफ रेखा ( Red Cliff Rekha ) :- 

भारत और पाकिस्तान के बीच की सीमा रेखा को रेडक्लिफ रेखा कहते हैं। रेडक्लिफ रेखा पर भारत के 3 राज्य ( पंजाब, राजस्थान और गुजरात ) और 2 केंद्र शासित प्रदेश ( जम्मू और कश्मीर, लद्दाख ) स्थित हैं । रेडक्लिफ रेखा की लम्बाई 3310 km है।

 

रेडक्लिफ रेखा कहां है ?

रेडक्लिफ रेखा गुजरात के कच्छ के रण से होते हुए जम्मू और कश्मीर के अंतरराष्ट्रीय सीमा तक फैली हुई है। यह रेखा भारत और पाकिस्तान के दो अलग – अलग देशों में विभाजित करती है।

 

रेडक्लिफ रेखा का निर्धारण :- 

रेडक्लिफ रेखा भारत और पाकिस्तान के बीच की सीमा रेखा का निर्धारण करती है। रेडक्लिफ सीमा रेखा का निर्धारण 17 अगस्त 1947 को किया गया था। इस सीमा रेखा का निर्धारण सर सिरिल रैडक्लिफ़ की अध्यक्षता में सीमा आयोग द्वारा किया गया था। इसलिए इस रेखा का नाम रेडक्लिफ रेखा रखा गया।

 

रेडक्लिफ रेखा पर भारत के स्थित राज्यों की लम्बाई :- 

जम्मू और कश्मीर, लद्दाख की सीमा का लम्बाई 1216 किलोमीटर है। पंजाब की सीमा का लम्बाई 547 किलोमीटर है। राजस्थान की सीमा का लम्बाई 1070 किलोमीटर है। गुजरात की सीमा का लम्बाई 512 किलोमीटर है। 

 

रेडक्लिफ रेखा के साथ सबसे अधिकतम सीमा राजस्थान की है। रेडक्लिफ रेखा के साथ सबसे कम सीमा गुजरात की है। रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा राज्य पंजाब है।

 

भारत में कितनी अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखाएं हैं ?

भारत सात देशों के साथ भूमि सीमा साझा करता है। भूमि सीमा साझा करने वाले देशों का नाम इस प्रकार से हैं –  चीन, भूटान, नेपाल, म्यांमार, बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान।

 

 भारत का पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ सीमा रेखा का नाम रेडक्लिफ रेखा है, चीन के साथ सीमा रेखा का नाम मैकमोहन रेखा है, अफगानिस्तान के साथ सीमा रेखा का नाम डूरंड रेखा है और श्रीलंका के सीमा रेखा का नाम पाक जलसंधि है। 

 

भारत और म्यांमार के बीच में हिमालय की उत्तर – पूर्वी श्रृंखला स्थलीय सीमा बनाता है। भारत को म्यांमार को अलग करने वाली नदी का नाम है – इरावदी नदी।

 

भारत का समुद्र पार सबसे नजदीक देश का नाम है – श्रीलंका। भारत के साथ समुद्री सीमा साझा करने वाले देशों के नाम इस प्रकार से हैं – श्रीलंका, मालदीव और इंडोनेशिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!